जादू की पुड़‍िया में आपका स्‍वागत है। चूंकि यहां जादू के बारे में ख़बरें 'कभी-भी' और 'कितनी भी' आ सकती हैं। और हो सकता है कि आप बार-बार ब्‍लॉग पर ना आ सकें। ऐसे में जादू की ख़बरें हासिल करने के लिए ई-मेल सदस्‍यता की मदद लें। ताकि 'बुलेटिन' मेल-बॉक्‍स पर ही आप तक पहुंच सके।

Monday, January 17, 2011

'रोटी नईं, बर्गर हां'

आज शॉपिंग के बाद सब थक गए थे। 

मौसी को भूख लगी थी।

इसलिए मैं सबको 'मैक' का बर्गर खिलाने ले गया।

मम्‍मा बोली--'घर पर जो भी चीज़ दो रिजेक्‍ट कर देता है--

और यहां देखो कैसे बर्गर खा रहा है,
जादू बहुत बदमाश है।'

b

2 comments:

PD said...

हम भी खायेंगे.. :(

noopur said...

mumma ko kyon itna tang karte ho:)

Post a Comment